मनचाहे पुरुष / महिला से विवाह करने का मंत्र

कुछ परिस्थितियों के चलते कई बार लड़के या लड़की को अपने मनचाहे व्यक्ति से शादी करने में परेशानिया आती है. तमाम कोशिशें करने के बावजूद भी विवाह का योग नहीं बन पाता है या कई बार बात बन कर बिगड़ जाती है. ऐसी स्थिति में घर के मुखिया का अपनी पारिवारिक जिम्मेदारीयो को लेकर दु:खी होना भी आम बात है. लेकिन यदि समस्या है तो उसका समाधान भी है. विवाह में उत्पन्न हो रही अड़चनों को दूर करने के लिए सनातन परंपरा में कई प्रकार के उपाय बताए गए हैं. जिनको करने से मन के मुताबिक योग्य वर या वधू का सपना शीघ्र ही पूरा हो जाता है.

मनचाहा प्रेम विवाह करने के लिए ,” भगवान श्री कृष्ण एवं राधा जी के एक साथ प्रेममय स्वरुप का ध्यान करें. भगवान के चित्र या मूर्ती को लाल या गुलाबी रंग के गोटेदार वस्त्र पर स्थापित कर के धूप, दीप, पुष्प, इत्र मीठा अर्पित कर के गुलाबी रंग के आसन पर बैठकर चन्दन की माला द्वारा नित्य एक माला निचे दिए हुए मंत्र का जाप करें.

विवाह के लिए मंत्र

लड़की के विवाह के लिए मंत्र:

हे गौरि शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकरप्रिया।
मां कुरु कल्याणि कान्तकातां सुदुर्लभाम्॥

लड़के के विवाह के लिए मंत्र:

पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्।
तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्।।

इस मंत्र के निरंतर जाप से आपको अवश्य लाभ मिलेगा और मनचाहा साथी मिलेगा. इसके अलावा एक और मंत्र है जिसके जाप से भी आपको प्रेम विवाह करने में कोई अड़चन नहीं आएगी. आईए आपको उस मंत्र के बारे में भी बताते है.

आपको शुक्ल पक्ष के गुरूवार से प्रारम्भ करके विष्णु एवं लक्ष्मी माँ की मूर्ती या फोटो के सामने “ॐ लक्ष्मी नारायणाय नमः” मंत्र का रोजाना तीन माला जाप स्फटिक माला से करें. इसे शुक्ल पक्ष के गुरूवार से ही आरम्भ करें. तीन महीने तक हर गुरूवार को मंदिर में जाकर प्रशाद चढ़ाएँ एवं विवाह की सफलता के लिए ईश्वर से प्रार्थना करें.

शीघ्र प्रेम विवाह के उपाय

प्रेम विवाह में आ रही अड़चनों को दूर करने के लिए हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे हैं. जिन्हें करने से आपको मन के मुताबिक योग्य वर या वधू मिलने का सपना शीघ्र ही पूरा होगा.

देवी की साधना

अगर आप भी अपनी पुत्री के सुयोग्य वर या फिर पुत्र के लिए योग्य वधू की तलाश करते-करते थक गए हैं या कोई प्रेम विवाह करने कि इच्छा रखता है तो आपकी मनोकामना पूर्ण करने के लिए यह मंत्र किसी भी वरदान से कम नहीं है. विवाह की कामना करने के लिए व्यक्ति को बाजोट पर कात्यायनी यंत्र और कार्यसिद्धि माला को स्थापित कर के मंत्र का रोज एक माला जाप करना चाहिए. मंत्र का जाप करने के लिए एक निश्चित समय और एक ही आसन पर बैठकर करना चाहिए. ऐसा करने से यह मंत्र शीघ्र ही सिद्ध हो जाता है एवं भगवती की कृपा से जल्द ही आपका विवाह संपन्न होता है.

दूर करें वास्तु दोष

यदि आपके बच्चों के विवाह में बाधाएँ आ रही हैं एवं तमाम कोशिशें करने के बाद भी आपको मनचाहा रिश्ता नहीं मिल पा रहा है तो आप एक बार अपने घर के वास्तु पर भी ध्यान दीजिए. अगर आपके घर में गुरु का स्थान दूषित है कहने का तात्पर्य यह है कि यदि वहाँ पर गंदगी बनी रहती है या कूड़ा-कबाड़ रखा है तब निश्चित ही मानिए कि इस स्थान के वास्तु दोष के कारण ही आपके घर के मांगलिक कार्यों में निरंतर बाधाएँ आती रहेंगी. कन्या का शीघ्र विवाह करने के लिए आप उसका कमरा उत्तर-पश्चिम दिशा यानी वायव्य कोण में निर्धारित कीजिए. साथ ही साथ उससे बृहस्पति देवता की पूजा भी करने का परामर्श दें.

शिव-पार्वती की साधना

भगवान शिव एवं माता पार्वती जी शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवी-देवताओं में से एक हैं. अगर आपके विवाह में विलंब हो रहा हो तो आप पूरी श्रद्धा भाव के साथ ईशान कोण में शिव-पार्वती की मूर्ति या चित्र स्थापित कीजिए एवं उनकी दैनिक साधना कीजिए. लड़कों को अपनी मनचाही पत्नी पाने के लिए शिव चालीसा एवं लड़कियों को अपना मनचाहा पति पाने के लिए पार्वती मंगल का पाठ जरूर करना चाहिए.

इन उपायों एवं मंत्र जाप करने से अवश्य ही आपको अपना मनचाहा जीवन साथी मिलेगा. हम आशा करते है कि आपको हमारा लेख पसंद आया होगा. इस लेख को पढ़ने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment