ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने का रामबाण मंत्र

आजकल दौड़-भाग भरी जिंदगी की वजह से पैदा होते तनाव के कारण अब हम वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे तक मनाने लगे हैं. हाइपरटेंशन (Hypertension) अथवा हाई ब्लडप्रेशर (High BP) एक ऐसी बीमारी है जिसका शिकार कोई भी हो सकता है. किन्तु यह केवल मानसिक अवसाद या तनाव के कारण नहीं बल्कि गलत आदतों की वजह से भी हो सकता है. डॉक्टरों के अनुसार लोग हाई ब्लड प्रेशर का शिकार निम्न कारणों की वजह से हो जाते है जैसे खराब लाइफस्टाइल, तनाव होना, गलत खान-पान एवं जेनेटिक आदि. आज आपको हम इस लेख में हाई बीपी से छुटकारा पाने के लिए मंत्र एवं कुछ आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं.

प्रसन्न मंत्र

प्रसन्न मंत्र एक ऐसा मंत्र है जिसका प्रयोग ब्‍लड प्रेशर को दूर करने के लिए किया जाता है. यह ब्लड प्रेशर के लिए बहुत लाभदायक बताया गया है इसका जाप करने से आपको जरूर फायदा होगा. प्रसन्न मंत्र को उत्तर की ओर मुख कर के 7 दिनों तक जाप करने से आपको लाभ मिलता है. मंत्र इस प्रकार है:

प्रसन्‍नवदनं ध्‍यायेत् सर्वविघ्‍नोपशान्‍तये||

गायत्री मंत्र

डॉक्टरो द्वारा अपने प्रयोगों से सिद्ध किया गया है कि गायत्री मंत्र का नियमित रूप से जाप करने से उच्च रक्तचाप तथा हृदय संबंधी रोगो का विनाश होता है. डॉक्टरों द्वारा 20 परिवारों पर गायत्री मंत्र के प्रभावों का अध्ययन किया गया. प्रत्येक परिवार में से उन्होंने 2 लगभग समान आयु वाले व्यक्तियों को चुना.

जिनमे से एक को उन्होंने शाकाहारी भोजन करने को एवं प्रतिदिन गायत्री मंत्र का जाप करने के लिए कहा. डॉक्टरों ने 3 साल तक परिवार के उन दो समान आयु वाले लोगों का निरीक्षण किया. उन्होंने यह पाया कि 3 साल में गायत्री मंत्र का जाप करने वालों को उच्च रक्तचाप या फिर दिल से संबंधित कोई भी समस्या आई ही नहीं. उसके बाद डॉक्टर ने अपने रोगियों को प्रत्येक 2 घंटे में से 5 मिनट गायत्री मंत्र का जाप करने को कहा. जिसके परिणाम चमत्कारिक आए एवं रोगियों को कोई भी दवा लेने की जरूरत ही नहीं पड़ी.

उन्होंने यह पाया कि ॐ का दीर्घ उच्चारण करने से भी हृदय की गति एकदम सामान्य हो जाती है. गायत्री मंत्र को खड़े-खड़े या लेटे हुए करने से भी पूरा लाभ होता है. हमारे हिन्दू धर्म में गायत्री मंत्र को चमत्‍कारी मंत्र कहा गया है. जिस भी कामना के साथ मंत्र का जाप किया जाता है मंत्र जाप करने से वह अवश्य पूरा होता है.

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के उपाय

उच्च रक्तचाप मतलब हाई ब्लड प्रेशर जो की हार्टअटैक का सबसे बड़ा कारण होता है. हार्टअटैक को रोकने के लिए यह सबसे जरूरी है कि आपका रक्तचाप नियंत्रित हो. यदि आपका रक्तचाप 120-80 mmHg से अधिक है तो यह आपके दिल के लिए एक खतरे की घंटी है. इसे कम करने की कोशिशों में आपको अभी से जुट जाना चाहिए.

धूम्रपान से दूर रहें

तम्बाकू में निकोटिन स्थित होता है जो रक्तचाप के स्तर को बढ़ा देता है. धूम्रपान न केवल आपको बल्कि आपके अपनों को भी नुकसान पहुँचाता है. इसलिए आज ही धूम्रपान छोड़ दीजिए.

नमक का सेवन कम करें

अगर आपको उच्च रक्तचाप की समस्या है तो आपको नमक का उपयोग कम करना चाहिए एवं चीनी भी कम खाएँ. नमक में पाया जाने वाला सोडियम ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है. इसलिए पूरे दिन में एक चम्मच से अधिक नमक का सेवन करने से बचे.

जंक फूड का सेवन ना करें

एक दिन में 20 ग्राम से ज्यादा वसायुक्त भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए. यह कोशिश करें कि आपके खाने में कम से कम वसा हो. यहीं चीजें आपके गुर्दों एवं हृदय के रक्तचाप के उतार-चढ़ाव के लिए जिम्मेदार होती हैं. जंक फूड खाने से इन्हीं चीजों की अधिकता हो जाती है. इसलिए इनसे दूर रहें.

अंकुरित चीजों को खाने में शामिल करें

आप सुबह के नाश्ते में जहां तक संभव हो सके अंकुरित आहार का ही सेवन कीजिए. सुबह के नाश्ते में अंकुरित दालों का सेवन करने से आपके शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है जो रक्तचाप एवं दिल के लिए बहुत फायदेमंद होता है.

व्यायाम रोजाना करें

उच्च रक्तचाप होने के कारण हमारे हृदय की रक्त नलिकाओं में वसा का जमाव हो जाता है. जिसके कारण हृदय में जाने वाले रक्त का बहाव कम हो जाता है एवं रक्तचाप और भी तेजी से बढ़ने लगता है. इसलिए रोजाना व्यायाम करना चाहिए. जिससे वसा आसानी से पच जाती है तथा मोटापा नहीं आता जिसकी वजह से आप स्वस्थ जीवन गुजार सकते हैं. अगर आप व्यायाम नहीं कर पाते हैं तब आपको गार्डनिंग तथा घर की सफाई जैसे मेहनत के काम दिन में 30 मिनट के लिए अवश्य करना चाहिए.

Leave a Comment