भाग्योदय करने का सबसे प्रभावशाली मंत्र। 15 दिनों में दिखने लगेगा असर

आज के दिनों में हर कोई अपने भाग्य को लेकर चिंतित है. मेरे साथ क्या होगा? मेरा आने वाला कल कैसा होगा? मैं शांति और सुख के साथ जीवन यापन कर पाऊंगा/पाऊंगी या नहीं?

ये सभी प्रश्न उन सबके दिमाग में घूमता रहता है जिनकी परिस्थिति ठीक नहीं है. पर समय एक सा नहीं रहता. भाग्य और कर्मफलों को अथक प्रयासों और मंत्र के चमत्कारिक प्रभावों द्वारा बदला जा सकता है.

इस लेख में हम आपको एक ऐसे दुर्लभ मंत्र के बारे में जानकारी देंगे जो आपके भाग्य को चमत्कारिक रूप से परिवर्तित कर देगा. आपके सारे दुःख एक एक कर नष्ट होने लगेंगे और आपके जीवन में सुख और शांति का संचार होगा. यह मंत्र इतना प्रभावशाली और चमत्कारिक है कि अगर इसे विधि पूर्वक सिद्ध किया गया तो 15 दिनों में आपके जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाएगी और आपके जीवन में शांति और समृद्धि का संचार होगा. भाग्य को चमत्कारिक रूप से बदलने वाले इस मंत्र का विधि पूर्वक जाप किया जाए तो धन संबंधित सारी समस्याएं दूर हो जाती है.

भाग्यनोत्ति मंत्र

भाग्यनोत्ति मंत्र एक ऐसा मंत्र है जो आपके किस्मत के लिए आपके किस्मत का दरवाजा खोल देता है. सारे ग्रहों की दशाओं को व्यवस्थित कर आपके नसीब से जुड़ी बाधाओं को दूर कर देता है. आईए अब आपका ज्यादा समय ना लेते हुए आपको भाग्यनोत्ति मंत्र बताते है. मंत्र इस प्रकार से है:

ॐ ऐं श्रीं भाग्योदयं कुरु कुरु श्रीं ऐं  फट् ।।

यह मंत्र चमत्कारिक है पर इसके जाप की उचित विधि होती है. इसका जाप विधिपूर्वक करना चाहिए अन्यथा यह मंत्र व्यर्थ हो जाता है. आगे इस लेख में हम आपको भाग्यनोत्ति मंत्र के जाप की उचित विधि बताएंगे.

भाग्यनोत्ति मंत्र के जाप की विधि

हर मंत्र की कुछ विशेषता होती है. हर मंत्र में एक शक्ति होती है और हर मंत्र के जाप की उचित विधि भी होती है. भाग्यनोत्ति मंत्र मंत्र के जाप की भी एक उचित विधि है जिसका पालन किए बिना इस मंत्र का लाभ पाना असंभव है. आईए आपको इस मंत्र के जाप की विधि की जानकारी देते है.

मंत्र जाप की विधि

  • मंत्र का जाप रात को सोने से पहले करें.
  • मंत्र का जाप कम से कम 11 बार करें. अपनी इच्छानुसार आप 21, 51, या 101 बार भी कर सकते हैं.
  • मंत्र का जाप लगातार 21 दिनों तक करना है.
  • मंत्र जाप से पहले स्नान करना अनिवार्य नहीं है पर हाथ पैर धोकर ही जाप करना चाहिए.
  • यह अवश्य निश्चित करें कि आपने रात के भोजन में मांसाहार का सेवन ना किया हो.
  • यदि संभव हो तो इस मंत्र को याद कर ले और आंखें बंद करके भगवान शिव का स्मरण करते हुए मंत्र का जाप करें.
  • मंत्र जाप के बाद भगवान का धन्यवाद करें.

भाग्यनोत्ति मंत्र के लाभ

हमने आपको इस मंत्र के जाप की विधि तो बता दिया है, अब आपको इससे होने वाले लाभों के बारे में बताते है. इस चमत्कारिक मंत्र के विधि पूर्वक जाप से जीवन में आश्चर्यजनक और सकारात्मक परिवर्तन होते है.

भाग्यनोत्ति मंत्र के लाभ

  • सारी ग्रहों की दशाएं ठिक हो जाती है.
  • यदि किसी ने आपके ऊपर जादू टोना, टोटका, इत्यादि किया है तो वह समाप्त हो जाता है.
  • धन लाभ के मार्ग खुल जाते है.
  • परिवार में कोई कलह चल रहा हो तो वह समाप्त हो जाता है.
  • कोई छोटा मोटा केस मुकदमा चल रहा हो तो वह भी खत्म हो जाता है.
  • घर और बाहर शांति का माहौल बना रहता है.
  • किसी कारणवश कोई महत्वपूर्ण कार्य रुका हो तो वह जल्द से जल्द पूर्ण हो जाता है.

हमारे शब्द

आशा है भाग्यनोत्ति मंत्र पर लिखा गया हमारा यह लेख आपको पसंद आया होगा. यह मंत्र भाग्य को परिवर्तित करने की क्षमता रखता है. इस मंत्र का लाभ उठाने के लिए इसका विधि पूर्वक जाप करना चाहिए.

भाग्यनोत्ति मंत्र पर लिखे गए इस लेख को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Leave a Comment